Monday, 14 May 2012

जीवनसाथी मेरे

आज के दिन ही (15.05.1990)
दो अनजान पथिकों ने
जीवनभर साथ निभाने की कसम खाई थी------
जीवन और जीवन के संघर्ष
इतने कठिन होते हैं
ये बात उस समय भला कहाँ----
समझ में आई थी ???????


पर----------
हमसफर साथ हो तो ----
सफर हँसते- हँसते कट जाता है
खुशियों की छाँह तले
गम धीरे से खिसक जाता है।

जीवनसाथी मेरे ----
जानती हूँ
मैं बाग तुम बागवाँ हो
मेरे जमीं और आसमाँ हो
मेरे चाँद और सितारे हो
पतझड नही आये जिसमें
मेरे जीवन की वे बहारें हो

चाहत है मेरी---
दामपत्य जीवन के सफर में
अधिकार और कर्तव्य की भावना के
साथ-साथ मैत्रीभाव भी बहे
जो भी कहना हो मुझको
मेरा दिल निःसंकोच कहे -----


तमन्ना है मेरी----
भले हीं मेरे पथ में
फूल नहीं बिछाना
पर ----
काँटा बनकर कभी
मेरे दिल को नही दुखाना----

भावना के वशीभूत होकर
अंधविश्वास मत करना
परिस्थितियाँ चाहे कैसी भी हो
मुझपर अविश्वास नहीं करना ।

जरूरत पडी कभी अगर तो ????
भले हीं सहारा मत देना
पर साजिश करके औरों से
बेसहारा भी न करना ।

दुःखी देख मुझे कभी
दुःखी नहीं तुम होना
दुःख से चाहे घिरे रहो
हरदम हँसते रहना
हँसता देख तुम्हें मेरे साथी
खुशी-खुशी जी लूगी
संग तुम्हारे रहकर सारे
गम को मैं हर लूँगी।

इन बातों का रखना ध्यान
सफर खुशियों से कट जायेगा

हरसिंगार के फूलों से मेरे ----
जीवन का पथ भर जायेगा।

46 comments:

  1. भावना के वशीभूत होकर
    अंधविश्वास मत करना
    परिस्थितियाँ चाहे कैसी भी हो
    मुझपर अविश्वास नहीं करना ।... कितनी सरल कामना

    ReplyDelete
  2. बना रखो विश्वास तुम, मुखड़े पर मुस्कान |

    बहुत अच्छे भाव -

    बधाई ||

    ReplyDelete
  3. चाहे होठों पर मुस्कान की रेखा हो या दुख की रेखा वह जीवन साथियों में आधी-आधी बँट जाती है. बहुत सुंदर कविता.

    ReplyDelete
  4. सच्ची..................ये छोटी छोटी चाहतें ही तो पलती हैं मन में....
    और वो भी पूरी ना हों यदि तो????

    ढेरों शुभकामनाएँ निशा जी....हर कामना पूरी हो अक्षरशः..........
    सस्नेह.

    ReplyDelete
  5. भावना के वशीभूत होकर
    अंधविश्वास मत करना
    परिस्थितियाँ चाहे कैसी भी हो
    मुझपर अविश्वास नहीं करना ।....्वाह: बहुत्खुबसूरत भाव...निशा जी...

    ReplyDelete
  6. वैवाहिक वर्षगांठ पर आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनायें ...
    सुंदर प्रस्तुति

    ReplyDelete
  7. वैवाहिक वर्षगांठ पर आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनायें

    ReplyDelete
  8. निशा जी वैवाहिक वर्षगांठ पर हार्दिक बधाई और शुभकामनायें... ईश्वर आपकी हर मनोकामना पूरी करे...

    ReplyDelete
  9. बधाई सहित अनंत शुभकामनाएं सभी कामनाओं की पूर्ति के लिए ...
    कल 16/05/2012 को आपकी इस पोस्‍ट को नयी पुरानी हलचल पर लिंक किया जा रहा हैं.

    आपके सुझावों का स्वागत है .धन्यवाद!


    ...'' मातृ भाषा हमें सबसे प्यारी होती है '' ...

    ReplyDelete
  10. वैवाहिक वर्षगाँठ पर बहुत बहुत शुभकामनायें निशा जी ...!!बहुत सुंदरता से मन के कोमल भावों को अभिव्यक्ती दी है ...!!आपका जीवन हरसिंगार कि तरह महकता रहे .....!!

    ReplyDelete
  11. विवाह की वर्षगाँठ बहुत बहुत मुबारक ... सफल जीवन के नुस्खे आपने बाखूबी लिखे हैं ...

    ReplyDelete
  12. बहुत बहुत मुबारक....वाह! बहुत सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete
  13. अरे तस्वीर तो अब देखी
    :-)

    जोड़ी सलामत रहे......होंठों पर मुस्कान बनी रहे.

    ReplyDelete
  14. वैवाहिक वर्षगाँठ पर बहुत बहुत शुभकामनायें निशा जी .. बहुत सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete
  15. खूबसूरत भावाभिव्यति...
    वैवाहिक वर्षगांठ पर सादर शुभकामनायें....

    ReplyDelete
  16. वैवाहिक वर्षगाँठ पर बहुत - बहुत शुभकामनायें .... :)
    आपकी सारी पूरी हो मनोकामनायें .... :)

    ReplyDelete
  17. बहुत-बहुत बधाई शुभकामनायें

    ReplyDelete
  18. वैवाहिक वर्षगांठ पर आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनायें ...

    बहुत सुंदर रचना,..अच्छी प्रस्तुति

    MY RECENT POST काव्यान्जलि ...: बेटी,,,,,

    ReplyDelete
  19. विवाह की वर्षगाँठ की बहुत बहुत बधाइयाँ...

    ReplyDelete
  20. चाहत है मेरी---
    दामपत्य जीवन के सफर में
    अधिकार और कर्तव्य की भावना के
    साथ-साथ मैत्रीभाव भी बहे
    जो भी कहना हो मुझको
    मेरा दिल निःसंकोच कहे -----
    - स्वस्थ दाम्पत्य के लिये यह परम आवश्यक है.
    आपका सुंदर संतुलन सदा सुखद सामीप्य बनाये रखेगा !

    ReplyDelete
  21. कोमल भाव विषयानुकूल .शुभकामनाएं एक लम्बी सुखद दाम्पत्य पारी की

    ReplyDelete
  22. कोमल भाव विषयानुकूल .शुभकामनाएं एक लम्बी सुखद दाम्पत्य पारी की . सुन्दर रहा मुर्गा भाग छ :भी .बधाई प्रेम मिलन दिवस की .
    कृपया यहाँ भी पधारें -
    बृहस्पतिवार, 17 मई 2012
    कैसे करता है हिफाज़त नवजात की माँ का दूध
    कैसे करता है हिफाज़त नवजात की माँ का दूध
    http://veerubhai1947.blogspot.in/

    ReplyDelete
  23. आपकी पोस्ट 17/5/2012 के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें

    चर्चा - 882:चर्चाकार-दिलबाग विर्क

    ReplyDelete
  24. भावना के वशीभूत होकर
    अंधविश्वास मत करना
    परिस्थितियाँ चाहे कैसी भी हो
    मुझपर अविश्वास नहीं करना ।....्वाह: बहुत्खुबसूरत भाव...निशा जी...


    विवाह की वर्षगाँठ पर ढेरों बधाईयाँ दिल खोल कर रख दिया कविता में ...वाह ..वाह ..बहुत सुन्दर लिखा

    ReplyDelete
  25. .सागर का किनारा हो और साथ तुम्हारा हो ,
    शरमाई सी हंसी हो और प्यार हमारा ( दम्पति )हो ,
    शुक्रवार, 18 मई 2012
    ऊंचा वही है जो गहराई लिए है
    ऊंचा वही है जो गहराई लिए है
    http://veerubhai1947.blogspot.in/2012/05/blog-post_18.html

    ReplyDelete
  26. बहुत भाव पूर्ण रचना |
    आशा

    ReplyDelete
  27. हँसता देख तुम्हें मेरे साथी
    खुशी-खुशी जी लूगी
    संग तुम्हारे रहकर सारे
    गम को मैं हर लूँगी।

    इन बातों का रखना ध्यान
    सफर खुशियों से कट जायेगा

    sabse pahale apke shukhmay dampatty jeevan hetu hardik shubhkamnayen .....sath hi lajbab prastuti ke liye hardik badhai Nisha ji

    ReplyDelete
  28. खुबसूरत भाव
    ....
    विवाह की वर्षगाँठ पर ढेरों बधाईयाँ

    ReplyDelete
  29. वैवाहिक वर्षगाँठ पर बहुत-बहुत शुभकामनायें .... !

    ReplyDelete
  30. बहुत-बहुत शुभकामनायें .... !!!!

    ReplyDelete
  31. आज थोडा फ्री था सोचा निशा जी को देर सारी शुभकामनये दे दूं
    @@@ एक बार और वैवाहिक वर्षगाँठ पर बहुत-बहुत शुभकामनायें निशा जी .... !

    ReplyDelete
  32. बहुत खुबसूरत रचना अभिवयक्ति....

    ReplyDelete
  33. विवाह की वर्षगाँठ पर ढेरों बधाईयाँ .

    ReplyDelete
  34. .....वर्षगाँठ पर ढेरों बधाईयाँ !!

    ReplyDelete
  35. एक-दूसरे का स्नेह-सान्निध्य अनंत काल तक बना रहे।

    ReplyDelete
  36. वैवाहिक वर्षगाँठ पर बहुत-बहुत शुभकामनायें .... !

    ReplyDelete
  37. बहुत सुन्दर प्रस्‍तुति।

    ReplyDelete
  38. मेरा क्या है़------
    बनकर बदली कहीं भी
    बरस जाऊगी----
    राह तुम तकते रहोगे-----
    नज़र नहीं कहीं आउँगी
    बनकर यादें मानसपटल पर
    जीवनभर तडपाऊँगी-------
    वैवाहिक वर्षगाँठ पर शुभकामनायें .

    ReplyDelete
  39. ओह! भावुक करती खूबसूरत प्रस्तुति.
    मंगलमय वैवाहिक जीवन के लिए बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएँ आपको.
    आपके जीवन का हर पल,हर क्षण खुशियों से भरा हो यही दुआ करता हूँ.

    ReplyDelete